Read Best Indian Sex Stories Daily

/ Hot Erotic Sex Stories

चूत को जीभ से चाटने लगा -Hindi Audio Sex Story

Audio Sex Story

audio sex story
audio sex stories

हाय दोस्तों कैसे हैं आप सभी ? आप सभी को मेरा सादर प्रणाम | मेरा नाम नीतू है और मैं विशाखापट्नम की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 30 साल है और मैं शादीशुदा हूँ | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 6 इंच है | मेरा बदन भरा हुआ है और मेरे मम्मे 32D के हैं और मेरे चूतड़ 40 के हैं और मेरी कमर 36 है | इस चीज़ से आप लोग मेरे बदन का अंदाज़ा लगा सकते हैं कि मैं कितनी बोल्ड हूँ | दोस्तों मेरे पति बाहर जॉब करते हैं इसलिए वो मुझे कम ही चोद पाते हैं |

मेरे पति का नाम परमेश है और वो मुझसे बहुत प्यार करते हैं और मैं भी उनसे बहुत प्यार करती हूँ | मेरे पति का ट्रान्सफर मुंबई में हुआ है और यहाँ मैं अपने सास ससुर के साथ रहती हूँ | मेरी शादी को बस दो साल ही हुए है और हमने अभी तक बच्चे के बारे में नहीं सोचा | दोस्तों मैं चुदाई की कहानियां रोज नही पढ़ लेटी हूँ | मुझे जब बोर लगता है तब ही मैं चुदाई की कहानियां पढ़ती हूँ | आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी लिखने जा आ रही हूँ ये मेरी पहली कहानी और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं आशा करती हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयगी |

ये मेरी पहली कहानी है तो अगर आप लोगो को इसमें कुछ गलत नजर आता है तो कृपया नजरअंदाज कर देना | अब मैं आप लोगो के समय को बर्बाद न करते हुए अपनी कहानी लिखती हूँ |

जैसा कि मैंने आप लोगो को बताया कि मेरे परमेश मुंबई में हैं और मैं यहाँ अपने सास ससुर के पास रहती हूँ और हमारा कोई बच्चा भी नहीं है | मैं आप लोगो को बता दूं कि मैं जब भी बस में सफ़र करती हूँ तो कई लोग मेरी गांड में लंड घुसाने की कोशिश करते हैं और आगे वाले मेरे दूध को दबाते हैं | मुझे अच्छा लगता है लेकिन मैं भी बस मजे ले कर रह जाती हूँ | मैं चुदक्कड़ तो नहीं हूँ लेकिन मुझे चुदाई बहुत पसंद है और आज की डेट में किसको चुदाई पसदं नहीं होती | हर कोई गर्लफ्रेंड और बॉयफ्रेंड सिर्फ चुदाई के लिए ही तो बनाते हैं और मजे लेने के लिए | जब किसी को चुदाई नहीं मिल पाती तो आखिरी आप्शन सिर्फ शादी ही बचता है | जैसा मेरे साथ हुआ मैंने अपनी चूत सिर्फ अपने पति के लिए बचा कर रखी थी और जब मैं स्कूल कॉलेज में पढाई करती थी तब भी मेरे पीछे बहुत से लड़के पड़े थे लेकिन मैंने किसी को भी भाव नहीं दिया था |

शादी होने के बाद मेरे पति ने मेरी डेढ़ साल तक तो खूब चुदाई की और कुछ महीनो से मेरी चूत में उनके लंड का सुपाड़ा तक नहीं गया | मेरी चूत सिर्फ प्यासी ही रह गई | मैंने खुद में काफी कंट्रोल किया कि मैं बिना लंड के रह सकती हूँ | लेकिन जब एक बार लंड का स्वाद चख लेती है तो बस लंड चाहिए ही रहता है आखिर कब तक एक चूत लंड से दूर रह सकती है | मेरी चूत को जब भी चुदाई की इच्छा होती है तो मैं ऊँगली डाल कर चूत का पानी निकाल कर चूत शांत कर लेती थी | जब मेरी चूत को लंड की ज्यादा तड़प लगने लगी | तो मैंने सोचा कि अगर एक बार मैं किसी और से अपनी चूत चुदवा भी लूं तो किसी को क्या पता चलेगा | फिर मैंने लौंडे ताड़ना चालू कर दिया | पर मुझे कोई भरोसे लायक लड़का नहीं लग रहा था जो मुझे बदनाम न करे | लंड की तलाश में मुझे कई महीने बीत चुके थे | तभी गर्मी का सीजन आ गया और हमे कूलर चालू करवाना था |

उस समय मेरे सास ससुर को शादी में जाना पड़ गया | मैंने सोचा कि यही सही मौका है चुदवाने का | मैं एक इलेक्ट्रिक की शॉप पर गई और वहां पर जा कर मैंने उनसे कहा कि मेरे घर का कूलर ख़राब हो चुका है तो आप देख लीजिये आ कर | तो उसने कहा भाभी अभी तो मैं काम कर रहा हूँ तो दोपहर में मैं आ कर देख सकता हूँ | तो मैंने कहा ठीक है अपना एड्रेस दे कर आ गई | उसके बाद मैं घर आ गई और जल्दी से नंगी हो कर बाथरूम गई और अपनी चूत के बाल को साफ़ किये और अर्म्पिट्स के भी | अब मेरी चूत एक दम चिकनी और साफ़ लग रही थी | करीब 2;15 के आस पास वो ही लड़का आया | उसका नाम झुन्नी है और वो काला सा लड़का है उसकी उम्र लगभग 26 के आस पास की लग रही थी और उसका बदन भी गठीला है |

वो आया और उसने पूछा कि कहाँ है कूलर ? तो मैंने कहा मेरे रूम में है और उसको अपने पीछे आने के लिए कहा | मैं अपनी गांड मटका मटका कर चल रही थी जिससे वो मेरी ओर आकर्षित हो जाए और अपने ब्रा को भी बार बार सेट कर रही थी | फिर मैंने रूम पंहुच कर कहा कि ये है कूलर देख लो | उस समय मैंने सलवार सूट पहना हुआ था | वो अपना काम करने लगा और मैं वहीँ बैठ कर उसको देखने लगी | वो बीच बीच में मेरी तरफ देखता तो मैं अपनी चूत खुजलाने की एक्टिंग करने लगती | करीब उसकी एक घंटा लग गया कूलर बनाने में | जब कूलर बन गया तो उसने मुझसे पैसे मांगे तो मैंने कहा रुको ले कर आती हूँ और वैसे ही मटक मटक कर गई और पानी ले कर वापस आ गई तो फिर पानी पीने के बाद मैंने उससे पूछा कि कितना पैसा हुआ है ? तो उसने कहा मुझे पैसे नहीं चाहिए बस एक बार आप अपनी चूत दे दो |

ये सुन कर मेरे शरीर में करंट सा दौड़ गया | मैंने कहा अरे तो पहले बोलना था मैं कब से चुदासी बैठी थी पहले बोल देते तो मैं पहले ही अपनी चूत दे देती | तो उसने कहा अरे पहले कैसे बोलता डर नाम की भी तो कोई चीज़ होती है | इतना कह कर वो मेरे पास आया और मैंने उसको अपने गले से लगा लिया | फिर उसने अपने होंठ मेरे होंठ में रख दिए और किस करने लगा | मैं भी उसका साथ देते हुए उसे किस करने लगी | हम दोनों एक दूसरे के होंठ को मजे ले कर चूस रहे थे और करीब 5 मिनट तक खूब किस लिया

मैंने उसकी टी-शर्ट को उतारा और छाती को चूमते हुए अपने घुटनों के बल जमीन पर बैठ गई और उसके लोअर और अंडरवियर को साथ में उतार कर नंगा कर दिया और उसके लंड को अपने हाँथ में ले कर हिलाने लगी और जीभ से चाटने लगी तो उसके मुँह से आहा ऊनंह ऊम्म्ह आहाआ ऊंह ऊम्मंह अह़ा ऊनंह ऊमंह ऊनंह की सिस्कारियां निकलने लगी | मैं उसके लंड को अच्छे से चाट कर गीला कर रही थी और जब लंड चाट लिया तो फिर मैं उसके लंड को अपने मुँह में डाल कर चूसने लगी तो वो आहा ऊनंह ऊम्म्ह आहाआ ऊंह ऊम्मंह अह़ा ऊनंह ऊमंह ऊनंह करते हुए मेरे उभारो को दबाने लगा | मैं उसके लंड को और दोनों गोटो को चूस रही थी और वो आहा ऊनंह ऊम्म्ह आहाआ ऊंह ऊम्मंह अह़ा ऊनंह ऊमंह ऊनंह करते हुए मजे ले रहा था | फिर उसने मुझे खड़ा किया और मेरे कपड़े उतार कर मुझे भी नंगा कर दिया |

उसके बाद उसने मेरे मम्मो को अपने मुँह में लिया और बारी बारी से चूसने लगा तो मेरे मुँह से भी आहा ऊनंह ऊम्म्ह आहाआ ऊंह ऊम्मंह अह़ा ऊनंह ऊमंह ऊनंह की आवाज़ निकलने लगी | वो जोर जोर से मेरे मम्मो को चूस रहा था मसल कर और मैं आहा ऊनंह ऊम्म्ह आहाआ ऊंह ऊम्मंह अह़ा ऊनंह ऊमंह ऊनंह करते हुए उसके बदन को सहला रही थी |

फिर उसने मुझे लेटाया और मेरी टांगो को खोल कर चूत को जीभ से चाटने लगा तो मैं आहा ऊनंह ऊम्म्ह आहाआ ऊंह ऊम्मंह अह़ा ऊनंह ऊमंह ऊनंह करते हुए कसमसा रही थी | वो मेरी चूत को बहुत प्यार से चाट रहा था और मैं आहा ऊनंह ऊम्म्ह आहाआ ऊंह ऊम्मंह अह़ा ऊनंह ऊमंह ऊनंह करते हुए चूत चटाई के मजे ले रही थी |

फिर उसने अपने लंड को मेरी चूत में एक ही झटके में घुसेड़ दिया और चोदने लगा धक्के मारते हुए तो मैं भी आहा ऊनंह ऊम्म्ह आहाआ ऊंह ऊम्मंह अह़ा ऊनंह ऊमंह ऊनंह करते हुए चुदाई में साथ देने लगी | फिर उसने अपनी चुदाई की रफ़्तार बढाया और जोर जोर से शॉट मारते हुए चोदने लगा तो मैं भी आहा ऊनंह ऊम्म्ह आहाआ ऊंह ऊम्मंह अह़ा ऊनंह ऊमंह ऊनंह करते हुए चुदवा रही थी | आधे घंटे तक उसने मुझे बहुत चोदा और अपना माल मेरी चूत के उपर ही छोड़ दिया |

उसके बाद वो वहां से चला गया और जब मुझे मौका मिलता है तो मैं उससे चुदवा लेती हूँ |

Related Stories

3.4 5 votes
Article Rating
3.4 5 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x
%d bloggers like this: